Uncategorized
Trending

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से हुआ इस्तीफे का सवाल, कहा- ये वक्त राजनीति का नहीं………..

Odisha Train Accident

User Rating: 4.48 ( 6 votes)

ओडिशा के बालासोर में हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे में रेस्क्यू ऑपरेशन लगभग पूरा हो चुका है। रविवार दोपहर तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 288 हो गई, 800 घायलों का इलाज चल रहा है। सूचना प्रकाशन रेलवे बोर्ड के मुताबिक इस हादसे से 58 ट्रेनें रद्द हुई हैं और 81 ट्रेनों का मार्ग बदला गया है। 10 ट्रेनें शॉर्ट टर्मिनेटेड हुई हैं।

हादसे के बाद से विपक्ष लगातार रेल मंत्री  के इस्तीफे की मांग कर रहा है। अपने इस्तीफे के सवाल पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि ये समय राजनीति करने का नहीं। मैं कहीं नहीं जा रहा हूं, मैं यहीं हूं। हम मामले में पूरी तरह से पारदर्शिता चाहते हैं।

विपक्ष कर रहा इस्तीफे के मांग

बालासोर रेल हादसे के बाद से विपक्ष लगातार सरकार को घेरने की कोशिश में लगा है। विपक्षी नेता रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। RLD ने सवाल उठाते हुए कहा कि ‘एक दौर था जब देश रेल मंत्री का नाम जानता था। रेल बजट अलग पेश होता था। रेलवे का निजीकरण नहीं हुआ था। युवाओं को रेलवे में लाखों नौकरियां मिलती थी। अब कोई रेल मंत्री को नहीं जानता!

इशारों-इशारों में ममता ने साधा निशाना

हादसे के दूसरे दिन पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी मौके पर पहुंची। सीधे-सीधे तो नहीं मगर ममता ने इशारों में सरकार पर तंज कसा और सवाल उठाए। उन्होंने कहा- ‘यह अब तक का सबसे बड़ा रेल हादसा है। ऐसा ही हादसा 1981 में भी हुआ था। इस ट्रेन में एंटी कोलिशन डिवाइस नहीं था, अगर वह होता तो यह हादसा नहीं होता।’

कांग्रेस ने भी उठाए सवाल 

इस हादसे पर कांग्रेस ने भी सवाल उठाए हैं। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने भी दर्दनाक हादसे पर सवाल पूछे। न्‍यूज एजेंसी ANI से कहा- ‘बहुत लोगों की दुर्घटना में मृत्यु हो चुकी है। दर्दनाक हादसे ने सभी को रूला दिया…कहा जाता है कि हम ट्रेन में कवच लगा रहे हैं, इससे सारे हादसे रुक जाएंगे। कहां है कवच? तीन ट्रेनें टकरा गई, कहां है कवच?’ वहीं, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी सवाल खड़े किए हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×